गुरुवार, 25 अगस्त 2011

जिस्म साथ हो तो.. दरमियान फासले नहीं होते...?


बज़ा फरमाया तूने की.. हम अब भी एक घर में साथ रहते हैं...
मगर ये किसने कहा.. कि, जिस्म साथ हो तो.. दरमियान फासले नहीं होते...


आलोक मेहता...

4 टिप्‍पणियां: